11.9.09

सावधान .....पुलिस देख रही है आपके ब्लॉग को......

जी बिलकुल सही सुना आपने. लेकिन परेशान होने वाली बात सिर्फ उन ब्लॉगर के लिए है जो भड़काऊ और सांप्रदायिक उन्माद फैलाने वाले ब्लॉग पोस्ट लिख रहे हैं.  और इसी प्रकार के कमेंट्स भी लोगों की पोस्ट पर कर रहे हैं....!!!




दरअसल एनबीटी पोर्टल की माने तो मुंबई पुलिस की साइबर सेल आजकल रात-रात भर जाग कर उन ब्लोग्स और कॉमेंट्स को बारीकी से पढ़ रही है जिनमें ऐसी सामग्री दी गयी है, जिनसे धार्मिक उन्माद फैलता हो, जिनमें महान  चरित्रों  के बारे में अनाप-शनाप लिखा हो....!!!

ये हर ब्लॉग को तो नहीं देखते वर्ना कई ब्लॉगर भाई सोचेंगे कि चलो बढ़िया है हमारे ब्लॉग के पाठक बढे :D !!! 

वरन ये कुछ रेनडम सर्च के जरिये विशेष ब्लोग्स को ही देखते हैं!!! तो आप इन पुलिस वालो से बचकर रहे!!!! अपने ब्लॉग को और खुद को पुलिस वालो से दूर रखे, अपने ब्लॉग पर होने वाली किसी भी भड़काऊ टिप्पणी को तुंरत हटाये !!!  

आप इस खबर को और भी विस्तार से नवभारतटाइमस पे पढ़ सकते है !!!!

11 comments:

Anil Pusadkar said...

आभार आपका सचेत करने के लिये।

Udan Tashtari said...

लोगों को सचेत हो जाना चाहिये.

हेमन्त कुमार said...

ऐसे लोग जो गलत हरकतें करते हैं उनको सचेत करने के धन्यवाद ।

संजय तिवारी ’संजू’ said...

आपकी लेखन शैली का कायल हूँ. बधाई.

Vivek Rastogi said...

सावधान पुलिस को कमाई का एक और नया साधन मिल गया है कि जिसको चाहो पकड़ो और बंद कर डालो और पैसे उगाहो।

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

हम भी आपकी लेखन शैली के कायल हैं:)

Ratan Singh Shekhawat said...

बढ़िया है कम से कम इस बहाने से ही सही ब्लॉगजगत तो साम्प्रदायिकता का अड्डा नहीं बनेगा

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

और जो गाली-गलौच कर रहे हैं ब्लॉग पर, उनके बारे में कोई टिप्पणी नहीं दर्ज कर रही है क्या पुलिस?

jayram " viplav " said...

jra , kairanvi ko koi batao

विनय ‘नज़र’ said...

स्वस्थ ब्लॉगिंग की आज कल्पना सच लगती है

Rakesh Singh - राकेश सिंह said...

जो ब्लॉगर बंधू ये सोच रहे हैं की पुलिस के ब्लोग्स और टिपण्णी देखने से ... स्वस्थ ब्लॉगिंग की कल्पना सच होगी वो मुगालते मैं हैं | पुलिस अभिव्यक्ती की स्वतंत्रता पे एक और चोट कर रही है | मान लीजिये की आपने किसी राज्य के मुख्या मंत्री की करतूतों का पोल खोल रहे हैं जो इलेक्ट्रॉनिक मीडिया या प्रिंट मीडिया मैं ठीक से नहीं आया है | ऐसे केस मैं पुलिस क्या आपको धर दबोचना नहीं चाहेगी | मतलब साफ़ है ... सरकार इन्टरनेट पर भी लगाम कसना चाह रही है चीन के तरह |

भाई लोगों अब ब्लॉग पे सिर्फ किस्से कहानी, कविता ही लिखो राजनितिक या धार्मिक विषयों पर लिखना ठीक नहीं |

Post a Comment

©2008-09 TECHNODHABA:आपका तकनीकी मित्र......
सर्वाधिकार असुरक्षित by TECHNNODHABA

सीखो बहुत कुछ Powered by Blogger